सरकार द्वरा आंगनबाड़ी केंद्र खोले के निर्णय के विरोध करे गिस


सरकार द्वरा आंगनबाड़ी केंद्र खोले के निर्णय के विरोध करे गिस
  12/09/2020  


दुर्गुकोंदल : कोरोना के बढ़ते संक्रमण काल म आंगनबाड़ी केंद्रों को खोलने अउ शिशुवती तथा गर्भवती माता मन ल केंद्र बुलाये के शासन के आदेश ल ग्रामीण मन अव्यवहारी अउ खतरनाक निर्णय बताइस। ग्रामीण मन ह सरकार द्वरा ले गेहे फैसला  पर पुनर्विचार करे के आग्रह करिस।
  छत्तीसगढ़ सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ले 2 सितंबर  को जारी आदेश के तहत स्वास्थ्य अउ पोषण दिवस तथा ग्राम भोजन प्रदान करे खातिर 7 सितंबर ले आंगनबाड़ी खोले के निर्देश दिये रहिस, जो कि पूर्ण रूप ले अव्यवहारिक हे।  कोरोना के बढ़ते संक्रमण काल म शिशु मन ल अउ गर्भवती माता मन ल संक्रमण की ओर धकेले के काम होही।
आप मन ल बता दुहु की वर्तमान समय म संक्रमण के फैलते भयावह स्थिति को नियंत्रण म रखते हुए 21 सितंबर तक स्कूल, कॉलेज अउ कोचिंग सेंटर ल बंद रखे के निर्णय लिये गए हे, तो वही दूसर तरफ सरकार द्वरा आंगनबाड़ी केंद्र ल खोले के निर्णय ह समझ से परे हे। 
   दुर्गुकोंदल के ग्रामीण मन ह सरपंच की उपस्थिति म बैठक कर आंगनबाड़ी खोले के निर्णय का विरोध करिस ।
 दुर्गुकोंदाल विकासखंड म कुल 274 आंगनबाड़ी हाबे, जहां के पालक अपन बच्चा ल आंगनबाड़ी केंद्र म नहीं भेजे के मन बना लिस।ग्रामीण मन के कहेना है कि कोरोना माहमारी के बीच यंहा फैसला बच्चों के हित म  नहीं है। जल्द ही सरकार ल अपन आदेश ल वापस लेहे के अपील करिस।
बैठक म पार्वती सोरी सरपंच ग्राम पंचायत दुर्गुकोंदल, राधा जैन जनपद सदस्य, लालजी दुग्गा ग्राम पटेल, दुलम नरेटी,दर्शन नरेटी,मनबोध साहू,छन्नू नायक,कार्तिक दीवान,महरु नाग,मानकी मरकाम,दीपक यादव,मानकों नरेटी,राजेश गावड़े, राजकुमार नरेटी, घनश्याम कोवाची सहित बड़ी संख्या म ग्रामीण मन उपस्थित रहिस।


अऊ खबर

img not found

06/09/2020 अपराध

img not found

21/11/2019 धान

Top