दुर्गा मूर्ति के ऊंचाई 6 फीट अउ चैड़ाई 5 फीट, पंडाल के आकार 15 वर्गफीट , नवरात्रि परब खातिर जिला प्रशासन ह जारी करिस दिशा निर्देश


दुर्गा मूर्ति के ऊंचाई 6 फीट अउ चैड़ाई 5 फीट, पंडाल के आकार 15 वर्गफीट , नवरात्रि परब खातिर जिला प्रशासन ह जारी करिस दिशा निर्देश
  01/10/2020  


राधाकृष्ण गोपाल

जांजगीर-चांपा : कोरोना वायरस संक्रमण म नियंत्रण अउ रोकथाम के मद्देनजर नेवरात परब खातिर जिला प्रशासन कति ले विस्तृत दिशा निर्देश जारी किये गइस हे। कलेक्टर अउ जिला दण्डाधिकारी श्री यशवंत कुमार कति ले जारी दिशा निर्देश के अनुसार नेवरात परब के दौरान दुर्गा माता के मूर्ति स्थापित करत समय ये ध्यान रखे जाये के मूर्ति के ऊचाई 6 फीट आउ चैड़ाई 5 फीट अउ मूर्ति स्थापना वाला पंडाल के आकार 15 वर्गफीट ले ज्यादा मत रहे।  पंडाल के आघु पर्याप्त खुल्ला जगह होना चाही। पंडाल अउ सामने खुल्ला जगह ले सड़क या गली प्रभावित नई होना चाही। पंडाल म दर्शक मन के बैठे खातिर अलग व्यवस्था नई होना चाही। कुर्सी नई लगना हे। कोनो भी एक समय म पंडाल म कुल 20 मनखे ले ज्यादा झन रहय। एक पंडाल ले दूसर पंडाल के दूरी 250 मीटर ले कम नई होना चाहिए। आदेश म कहे गये हे कि
मूर्ति स्थापित करने वाला मनखे या समिति एक रजिस्टर संधारित करही जेमा दर्शन बर आने वाला जम्मो मनखे मन के नाम, पता, मोबाईल नंबर दर्ज किये जाये ताकि ओमा ले यदि कोई कोरोना संक्रमित मिलय त कांटेक्ट ट्रेसिंग किया जा सकय। मूर्ति स्थापित करने वाले मनखे या समिति कम से कम 4 सीसीटीवी कैमरा लगाही ताकि ओमा ले यदि कोनो कोरोना संक्रमित मिलय त कांटेक्ट ट्रेसिंग किये जा सकय। मूर्ति दर्शन या पूजा म शामिल होवैया कोनो भी मनखे बिना मास्क के नई जाये। अइसन पाए जाये म संबंधित मनखे या समिति के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही किये जाही। मूर्ति स्थापित करैया मनखे या समिति कति ले सेेनेटाईजर, थर्मल स्क्रिनिंग, एक्सीमीटर, हैण्डवाश अउ क्यू मैनेजमेंट सिस्टम के व्यवस्था किये जाही। थर्मल स्क्रीनिंग म बुखार पाए जाय या कोरेाना से संबंधित कोनो भी सामान्य या विशेष लक्षण पाए जाय म पंडाल म प्रवेश नई देहे के जिम्मेदारी संबंधित समिति के रही।

व्यक्ति या समिति कति ले फिजिकल डिस्टेंसिंग खातिर आय अउ जाय के अलग से व्यवस्था बास बल्ली से बेरीकेंटिग कराके कराए जाही। यदि कोनो मनखे जो मूर्ति स्थापना के जगह म जाये के कारण संक्रमित हो जाही त ईलाज का संपूर्ण खर्च मूर्ति स्थापना करईया मनखे या समिति द्वारा वहन किये जाही। कंटेनमेंट जोन म मूर्ति स्थापना के अनुमति नई होय। यदि पूजा के अवधि के दौरान उपरोक्त क्षेत्र कंटेनमेंट घोषित हो जात हे तत्काल पूजा समाप्त करना होही।
मूर्ति स्थापना के दौरान विसर्जन के समय या विसर्जन के बाद कोनो भी प्रकार के भोज, भंडारा, जगराता अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम करे के अनुमति नई रहय। मूर्ति स्थापना के समय, स्थापना के दौरान, विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के बाद कोनो भी प्रकार के ध्वनि विस्तारक यंत्र अउ डीजे बजाये के अनुमति नई रहय। मूर्ति स्थापना अउ विसर्जन के समय प्रसाद चरणामृत या कोई भी खाद्य अउ पेय पदार्थ के वितरण के अनुमति नई रहय। मूर्ति विसर्जन खातिर एक ले ज्यादा वाहन के अनुमति नई होना हे। मूर्ति विसर्जन खातिर पिकअप, टाटा एस, छोटा हाथी ले बड़े गाड़ी के उपयोग पूरी तरह ले प्रतिबंधित रही।  मूर्ति विसर्जन के गाड़ी म कोनो प्रकार के अकतहा साज सज्जा झांकी के अनुमति नई रहय। मूर्ति विसर्जन खातिर चार ले ज्यादा मनखे नई जा सकय अउ वो मूर्ति के वाहन म ही बैठही। अलग से वाहन ले जाय की अनुमति नई रहय। मूर्ति विसर्जन खातिर उपयोग म आने वाला वाहन पंडाल ले लेके विसर्जन स्थल तक रस्ता म कहूँ मेर रोके के अनुमति नई रहय।
 विसर्जन खातिर निर्धारित रस्ता अउ दिनतिथि अउ समय के पालन करना होही। शहर के व्यस्त रस्ता ले मूर्ति विसर्जन वाहन ल ले जाय के अनुमति नई रहय। विसर्जन के रस्ता म कहूँ भी स्वागत, भंडारा, प्रसाद वितरण अउ पंडाल लगाय के अनुमति नई रहय। दिन डूबे के बाद अउ दिन निकले के पहली मूर्ति विसर्जन के कोनो भी प्रकिया के अनुमति नई रहय।
ये शर्त के संग घर म मूर्ति स्थापित करे के अनुमति होही, यदि घर से बाहिर मूर्ति स्थापित किये जाही त कम से कम 7 दिन पहली नगरीय क्षेत्र खातिर एस डी एम अउ ग्रामीण क्षेत्र खातिर तहसीलदार कार्यालय म निर्धारित शपथ पत्र मय आवेदन देना होही। अनुमति प्राप्त होय के उपरांत ही मूर्ति स्थापित करे के अनुमति होही। पंडाल मन खातिर पहले आओ पहले पाओ नीति के तहत जोन आवेदन पहली मिलही ओइला पहली प्राथमिकता दिये जाही। ये जम्मो शर्त के अलावा भारत सरकार स्वास्थ्य अउ परिवार कल्याण मंत्रालय कति ले जारी एसओपी के पालन अनिवार्य रूप ले करना होही। उक्त निर्देश मन के उल्लंघन होय म एपिडेमिक डिज़ीज़ एक्ट अउ विधि अनुकूल नियमानुसार अन्य धारा मन के तहत कठोर कार्रवाई किये जाही।


अऊ खबर

img not found

06/09/2020 अपराध

img not found

05/12/2019 this is test news22

img not found

21/11/2019 धान