मुख्यमंत्री ह करिस इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के लोकार्पण


मुख्यमंत्री ह करिस इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के लोकार्पण
  19/11/2020  


केशव पाल @ तिल्दा-नेवरा। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जयंती के अवसर म तिल्दा विकासखंड के अंतर्गत अवइया तिल्दा-खरोरा मार्ग म ग्राम मोहरेंगा स्थित इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के आज मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पण करे गइस। वर्चुअल मोड म आयोजित ए कार्यक्रम म प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ह अपन निवास कार्यालय ले वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम ले ए नेचर सफारी के उद्घाटन कर प्रदेश के जनता मन ल एक अउ पर्यटन स्थल के सौगात भेंट करिन।
कार्यक्रम ल संबोधित करत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ह कहिन कि आज ग्लोबल वार्मिंग जैसे विश्वव्यापी समस्या ले निजात पाय बर प्रकृति ल बचाके रखना बहुत जरूरी हे। एकर बर वोहा वन विभाग द्वारा विकसित नेचर सफारी मोहरेंगा के सराहना करिन।अउ एला वन्यप्राणी के संगे-संग पर्यावरण संरक्षण सहित पर्यटन के विकास ल बढ़ावा दे बर महत्वपूर्ण बताइन। मुख्यमंत्री बघेल ह कहिन कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ल प्रकृति,वन्यप्राणी,जैव-विविधता अउ आदिवासी समाज ले बहुत लगाव रहिस। वोकर जयंती म राजधानी के समीप इंदिरा प्रियदर्शनी नेचर सफारी मोहरेंगा के लोकार्पण म मुख्यमंत्री ह खुशी व्यक्त करत हुए कहिन कि नेचर सफारी मोहरेंगा पर्यावरण संरक्षण के संगे-संग वन के सुरक्षा के दिशा म एक सराहनीय प्रयास आय। ए अवसर म वन मंत्री मोहम्मद अकबर ह बताइन कि इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के विकास ले राज्य म पर्यटन ल अउ बढ़ावा मिलही। अउ एकर ले वन्य प्राणी मन के संरक्षण म घलो सहूलियत होही।
ए अवसर म कार्यक्रम ल संसदीय सचिव शिशुपाल सोरी,संसदीय सचिव चन्द्रदेव राय,विधायक अनिता शर्मा ह घलो संबोधित करिन। कार्यक्रम म विधायक अनूपनाग,मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा,अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू,प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ,मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी, प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी,प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज संघ संजय शुक्ला सहित अन्य अधिकारी मन उपस्थित रहिन।
ए बताना लाजिमी के कि मोहरेंगा जंगल बहुत जुन्ना  एक प्राकृतिक जंगल आय। एला नेचर सफारी के रूप म वन विभाग द्वारा जंगल सफारी के तर्ज म विकसित करे गए हे। लगभग 1450 एकड़ म फैले ए नेचर सफारी ल पर्यावरण अउ वन्य प्राणी चेतना केन्द्र के रूप म बनाय गए हे। मोहरेंगा घना प्राकृतिक जंगल होय के कारण 2011 म वन विभाग ह योजना तैयार करे के बाद 2015 म एला पर्यटन स्थल के रूप म विकसित करे बर घेराबंदी करे के शुरू करे रहिस। राज्य सरकार ले तकनीकी अउ प्रशासकीय स्वीकृति मिले के बाद एकर काम चालू करे रहिस। अउ पाछू एक बछर ले एला पर्यटन स्थल के रूप म विकसित कर अत्याधुनिक स्वरूप देय बर विभागीय अमला जुटे रहिस। आसपास के लोगन इंहा ल मोहरेंगा जंगल के नाव ले जानथे पर अब लोकार्पण होय के बाद एला इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के नाव ले जाने जाही। लोकार्पण होय के बाद अब एला पर्यटक मन बर खोल दिए गए हे।

वन्य प्राणी मन करथे निवास

लगभग 555.850 हेक्टेयर म विकसित ए मोहरेंगा जंगल एक प्राकृतिक जंगल होय के कारण इंहा शुरू ले ही हिरण,चीतल,सांभर,जंगली सुअर,लोमड़ी,खरगोश,नेवला,सियार,बंदर,अजगर,30 ले 40 प्रजाति के पक्षी सहित अउ कई ठन छोटे-बड़े वन्य प्राणी अउ पशु-पक्षी मन निवास करथे। भारी संख्या म इंहा फलदार,छायादार,औषधीय पौधा अउ हरा घास हे। जेकर कारण वन्य जीव मन ल इंहा विचरण करत देखे जा सकत हे। हरा-भरा वन म इंहा साजा,खैर,तेंदू,सेमहा,चार,बेल,धावड़ा,आंवला,बरगद, इमली,महुंआ,अर्जुन अउ बांस प्रजाति के वृक्ष विद्यमान हवय।

प्रकृति के करीब ले आनंद

सपरिवार घूमे बर ए नेचर सफारी ह एक बेहतर जघा आय। इंहा के सुरम्य वातावरण अउ पशु-पक्षी मन के कलरव पर्यटक मन ल बरबस ही आकर्षित करथे। त उंहे इंहा आके पर्यटक मन प्रकृति ल करीब ले महसूस कर सकत हे। इंहा वन्य प्राणी मन बर चार तालाब बनाय गए हे। पैगोडा,बायोडायवर्सिटी हॉल,भव्य प्रवेश द्वार के संगे-संग चार मंजिला वॉच टावर के निर्माण घलो करे गए हे। जेमा चढ़के पर्यटक मन जंगल के चारों तरफ के खूबसूरती ल मन भर के निहार सकत हे। इंहा तितली पार्क,झरना अउ पर्यटक मन के मनोरंजन बर झूला जैसे अउ कई ठन सुविधा घलो विकसित करे जावत हे।

शोरगुल ले दूर शांत वातावरण

ए नेचर सफारी ह रायपुर ले 40 किलोमीटर दूर तिल्दा-खरोरा मार्ग म ग्राम मोहरेंगा म लगभग साढ़े 14 सौ एकड़ म फैले हवय। इंहा अवइया मन बर रायपुर-बलौदाबाजार अउ तिल्दा-खरोरा मार्ग म हमेशा गाड़ी उपलब्ध रहिथे। बस,मैजिक,आटो के माध्यम ले इंहा पहुंचे जा सकत हे। शोरगुल ले दूर इंहा के शांत वातावरण लोगन मन ल खूब आकर्षित करथे।एहा रायपुर वन मंडल के अंर्तगत एकमात्र प्राकृतिक वन संपदा आय। जेकर कारण इंहा ल सुरक्षा के लिहाज ले ऊँचा दीवार अउ तार घेरा ले घेरे गए हे।

"इंदिरा प्रियदर्शिनी नेचर सफारी मोहरेंगा के लोकार्पण के बाद एला पर्यटक मन बर खोल दिए गए हे। परिवार सहित आके लोगन मन इंहा घूम सकत हे। भ्रमण बर इंहा जिप्सी उपलब्ध कराय गए हे। अवइया दिन म इंहा कैंटीन के घलो व्यवस्था करे जाही। जिहां पर्यटक मन छत्तीसगढ़ी व्यंजन चीला,फरा,ठेठरी,खुरमी,रोटी के मजा ले सकत हे। आगामी दिन म पर्यटक मन के सुविधा बर इंहा अउ बहुत अकन सुविधा विकसित करे जाही।"  -दीपक तिवारी डिप्टी रेंजर


अऊ खबर

img not found

06/09/2020 अपराध

img not found

21/11/2019 धान